मंगलवार, 15 फ़रवरी 2011

चाय के बाद
काम के बाद , थोड़ा आराम
काम प्रगति पर
काम शुरू
सुबह चार बजे खेतो में काम को तैयार

9 टिप्‍पणियां:

  1. कर्म ही पूजा है
    खेत मे काम तो सुबह सुबह ही होता है धूप मे नही
    फोटो अच्छी लगी
    शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप यहाँ हैं........और मैं आपको ब्लोग पर तलाश रहा हूँ..... :(

    सारे फोटोस अच्छे लगे ......

    उत्तर देंहटाएं
  3. वैलकम बैक, आनंद।

    सवाई माधोपुर एक दोस्त के यहाँ गये थे तो चने का पौधा दिखाने के लिये ऐसे ही सुबह सुबह हमें खेतों में ले गया था।

    उत्तर देंहटाएं
  4. काम भी, व्यायाम भी.....सराहनीय कोटि-कोटि बधाई।
    आपका होली के अवसर पर विशेष ध्यानाकर्षण हेतु.....
    ==========================
    देश को नेता लोग करते हैं प्यार बहुत?
    अथवा वे वाक़ई, हैं रंगे सियार बहुत?
    ===========================
    होली मुबारक़ हो। सद्भावी -डॉ० डंडा लखनवी

    उत्तर देंहटाएं
  5. हर वो भारतवासी जो भी भ्रष्टाचार से दुखी है, वो देश की आन-बान-शान के लिए समाजसेवी श्री अन्ना हजारे की मांग "जन लोकपाल बिल" का समर्थन करने हेतु 022-61550789 पर स्वंय भी मिस्ड कॉल करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे. यह श्री हजारे की लड़ाई नहीं है बल्कि हर उस नागरिक की लड़ाई है जिसने भारत माता की धरती पर जन्म लिया है.पत्रकार-रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा"

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा. हिंदी लेखन को बढ़ावा देने के लिए आपका आभार. आपका ब्लॉग दिनोदिन उन्नति की ओर अग्रसर हो, आपकी लेखन विधा प्रशंसनीय है. आप हमारे ब्लॉग पर भी अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "अनुसरण कर्ता" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    माफियाओं के चंगुल में ब्लागिंग

    उत्तर देंहटाएं