बुधवार, 27 अक्तूबर 2010

हम हैं अगर कल , तो देखो इसी पल भारत का हमको भाविष्य बताओ

ब्लॉग मित्रो से अनुरोध है , की इस गीत को ज़रूर सुने और अपनी राय दें। राजस्थान के एक म्यूजिक डिरेक्टर को मैंने मौका दिया मेरे लिखे इस गीत को काम्पोस करने के लिए । अभी ये फायनल नहीं है और न ही किसी गायक ने गया है। जब सबकुछ फायनल हो जायेगा तो मैं आप सबको बताऊंगा कि ये गीत किसलिए तैयार हो रहा है। बुरा लगे , बुरा कहें, अच्छा लगे अच्छा कहें , लेकिन दिल से कहें मुझे अच्छा लगेगा।

4 टिप्‍पणियां:

  1. अरे आओ रे आओ.....शब्द और आवाज़ दोनों बहुत अच्छे हैं....
    इसे किसी गायक ने नहीं गया है.... अगर मैं सही हूँ तो शायद यह आवाज़ ...आपकी ही हो सकती है ..... पर गीत सुंदर बन पड़ा है.... जहाँ भी इसे काम में लेंगे
    लोगों के मन को ज़रूर छूयेगा....

    उत्तर देंहटाएं
  2. anand jee
    namaskar !
    main bhi bikaner ' rajashthan ' se ho . pratiksah hai, geet ki saflta ke liye hamari subh kamana hai .
    thanks

    उत्तर देंहटाएं
  3. गीत तो अच्छा है, आप इस फिल्म की दुनिया में हो. आपको कुछ कहना अति ही हो जायेगा. फिर भी कहना चाहूंगी, इसमें बच्चो के बोल होते और उन जैसी तोतलाहट. जैसे कि ये आसमा जो तुम्हारा है , मेरा भी है, तुम भी वही हो मैं भी वही हूँ, फिर फर्क क्यूँ ऐसा" इसे अगर हम बच्चो के बोल में, समझ में और उनके ही जैसे शिकायत करने के अंदाज में गायें तो और भी अच्छा लगेगा. फिर भी यह सब कुछ और भी चीजों पर भी निर्भर करता है. और कुछ कहना सही में मुझ जैसे अनाड़ी को कहना नहीं चाहिये. मुझे तो यह भी गाना अच्छा लग रहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  4. monika ji shukriya..sunil ji zarur aaunga..vandana.. its just a dummy... am thinking to take hemant brijwasi (lil champ winner ) to sing song.. i am not impressed with music.. NDTV also asked me to improvise.. sahi kaha.. shukriya

    उत्तर देंहटाएं